गर्भपात की तकलीफ- मेरा कोरोना वर्ष अनुभव 45

sakhi talk आ सखी चुगली करें

#कोरोना# अनुभव मेरे लिए बुरा हुआ पति व बेटी का साथ अच्छा मिला परिवार छोटा होने के कारण गुजारा भी ठीक हुआ पर एक बात अच्छी नहीं हुई बडी़ मुश्किल से दवा व दुआओ से मैं गर्भवती हुई पर अफ़सोस लाकडाऊन की वजह से जब मुझे इलाज की जरूरत थी डाक्टर ने मना कर दिया इलाज न होने के कारण गर्भपात हो गया तीन महीने तक बेचैनी होने के कारण रात को भी नींद नहीं आई  अब सावन के महीने में भोले बाबा की कृपा से नींद भी अच्छी आने लगी है और मन को शांति भी मिली हर हर महादेव

लेखिका – बबली शर्मा